Ad1

Ad4

P64, सुषुम्ना रहस्य, "सुखमन के झीना नाल से,..." पदावली भजन व्याख्या सहित

 महर्षि मेंहीं पदावली / 64    

      प्रभु प्रेमियों ! संतवाणी अर्थ सहित में आज हम लोग जानेंगे- संतमत सत्संग के महान प्रचारक सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के भारती (हिंदी) पुस्तक "महर्षि मेंहीं पदावलीहम संतमतानुयाईयों के लिए गुरु-गीता के समान अनमोल कृति है। इस कृति के पद्य संख्या 64 वें भजन- "सुखमन के झीना नाल से,...'' पद्य का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी किया गया है। जिसे पूज्यपाद लालदास जी महाराज नेे किया है। इसमें बताया गया है कि  सुषुम्ना नाड़ी जागृत होने का रहस्य क्या है एवं सुषुम्ना में पहुंचने पर क्या-क्या होता है? सुषुम्ना-ध्यान अगर कोई सिद्ध कर लें, तो उसके क्या-क्याा फायदे हैं? आदि।

P64,  सुषुम्ना रहस्य, "सुखमन के झीना नाल से,..." पदावली भजन व्याख्या सहित। सद्गुरु महर्षि मेंहीं और पूज्य पाद शाही स्वामी जी महाराज
सद्गुरु महर्षि मेंहीं और पूज्य पाद शाही स्वामी जी महाराज


सुखमन के झीना नाल से...( सुषुम्ना रहस्य)
 प्रभु प्रेमियों ! सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के प्रसिद्ध भजनों में "सुखमन के झीना नाल से, अमृत की धारा बह रही" का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी में बताया गया है कि सुषुम्ना का रहस्य क्या हैै? उसका जीवन में  कितना महत्व है? अमृत की खोज कहां करनी चाहिए ? इस बारे में लोगों को पता ही नहीं है । अमृत कहां है? उसे कैसे खोजा जाए? कहां खोजा जाए ? उस अमृत का पान कैसे किया जाए? इन प्रश्नोंं के उत्तर निम्न  चित्रों में पढ़ें-

P64,  सुषुम्ना रहस्य, "सुखमन के झीना नाल से,..." पदावली भजन व्याख्या सहित। पदावली पद 64 शब्दार्थ भावार्थ
पदावली भजन चौसठ शब्दार्थ, भावार्थ।

P64,  सुषुम्ना रहस्य, "सुखमन के झीना नाल से,..." पदावली भजन व्याख्या सहित। पदावली पद 64 टिप्पणी
पदावली पद 64 टिप्पणी

प्रभु प्रेमियों !  "महर्षि मेंहीं पदावली शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी सहित" नामक पुस्तक  से इस भजन के शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी द्वारा जाना कि सुषुम्ना का रहस्य क्या हैै? उसका जीवन में गुरु का कितना महत्व है  इतनी जानकारी के बाद भी अगर आपके मन में किसी प्रकार का शंका या कोई प्रश्न है, तो हमें कमेंट करें। इस लेख के बारे में अपने इष्ट-मित्रों को भी बता दें, जिससे वे भी इससे लाभ उठा सकें। सत्संग ध्यान ब्लॉग का सदस्य बने। इससे आपको आने वाले  पोस्ट की सूचना नि:शुल्क मिलती रहेगी। इस पद का पाठ किया गया है उसे सुननेे के लिए निम्नलिखित वीडियो देखें।


अगर आप 'महर्षि मेंहीं पदावली' पुस्तक के अन्य पद्यों के अर्थों के बारे में जानना चाहते हैं या इस पुस्तक के बारे में विशेष रूप से जानना चाहते हैं तो     यहां दबाएं। 

गुरु महाराज की सभी पुस्तकों के लिए यहां दवाएं

P64, सुषुम्ना रहस्य, "सुखमन के झीना नाल से,..." पदावली भजन व्याख्या सहित P64,  सुषुम्ना रहस्य, "सुखमन के झीना नाल से,..." पदावली भजन व्याख्या सहित Reviewed by सत्संग ध्यान on दिसंबर 31, 2017 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

कृपया सत्संग ध्यान से संबंधित किसी विषय पर जानकारी या अन्य सहायता के लिए टिप्पणी करें।

Ad3

Blogger द्वारा संचालित.