Ad1

Ad2

P57, yoga meditation script "घट विच अजब तमाशा।..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित।

महर्षि मेंहीं पदावली / 57

      प्रभु प्रेमियों ! संतवाणी अर्थ सहित में आज हम लोग जानेंगे- संतमत सत्संग के महान प्रचारक सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के भारती (हिंदी) पुस्तक "महर्षि मेंहीं पदावली" जो हम संतमतानुयाइयों के लिए गुरु-गीता के समान अनमोल कृति है। इस कृति के 57वां पद्य  "घट विच अजब तमाशा।...'  का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी के  बारे में। जिसे पूज्यपाद लालदास जी महाराज नेे किया है।
इस Santmat meditations भजन (कविता, पद्य, वाणी, छंद) "घट विच अजब तमाशा।..." में बताया गया है कि- योग साधना रहस्य,ध्यान के 4 रहस्य,ध्यान योग कैसे करे,ध्यान योग साधना,योग साधना कैसे करें,तमाशा तमाशा,बहुत अजब तमाशा है,गजब तमाशा,अजब मदारी गजब तमाशा,ध्यान साधना विधि,योग एवं ध्यान की व्याख्या,योग साधना के नियम,ध्यान योग क्या है,भगवान का ध्यान कैसे करें,योग साधना से खुलते जीवन के रहस्य,ध्यान विधि के रहस्य को जानिऐ आदि।

इस पद्य के  पहले वाले भाग को पढ़ने के लिए  
यहां दबाएं।

P57,   yoga meditation script "घट विच अजब तमाशा।..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित। ध्यान अभ्यास पर चर्चा करते गुरुदेव।
ध्यान अभ्यास पर चर्चा करते गुरुदेव

yoga meditation script

सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज जी  कहते हैं- "हे साधु पुरुषों ! शरीर के अंदर अत्यंत आश्चर्यमय और अलौकिक आनंद देनेवाली लीलाएं देखने में आती है।....." इस विषय में पूरी जानकारी के लिए इस भजन का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी किया गया है। उसे पढ़ें-

P57,   yoga meditation script "घट विच अजब तमाशा।..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित। पदावली भजन 57 और शब्दार्थ। ध्यान अभ्यास के अद्भुत रहस्य।
पदावली भजन 57 और शब्दार्थ. ध्यान अभ्यास के अद्भुत रहस्य।

P57,   yoga meditation script "घट विच अजब तमाशा।..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित। पदावली भजन 57 का भावार्थ और टिप्पणी। अनाहत नाद चर्चा।
पदावली भजन 57 का भावार्थ और टिप्पणी। अनहद नाद चर्चा।

इस भजन के  बाद वाले पद्य को पढ़ने के लिए    यहां दबाएं।

प्रभु प्रेमियों !  "महर्षि मेंहीं पदावली शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी सहित" नामक पुस्तक  से इस भजन के शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी द्वारा आपने जाना कि yoga meditation for beginners,yoga meditation youtube,yoga and meditation wikipedia,yoga meditation script इतनी जानकारी के बाद भी अगर आपके मन में किसी प्रकार का शंका या कोई प्रश्न है, तो हमें कमेंट करें। इस लेख के बारे में अपने इष्ट-मित्रों को भी बता दें, जिससे वे भी इससे लाभ उठा सकें। सत्संग ध्यान ब्लॉग का सदस्य बने। इससे आपको आने वाले  पोस्ट की सूचना नि:शुल्क मिलती रहेगी। इस पद्य का पाठ किया गया है उसे सुननेे के लिए निम्नांकित वीडियो देखें।




अगर आप 'महर्षि मेंहीं पदावली' पुस्तक के अन्य पद्यों के अर्थों के बारे में जानना चाहते हैं या इस पुस्तक के बारे में विशेष रूप से जानना चाहते हैं तो   यहां दबाएं। 

सत्संग ध्यान संतवाणी ब्लॉग की अन्य संतवाणीयों को अर्थ सहित पढ़ने के लिए    यहां दवाएं

P57, yoga meditation script "घट विच अजब तमाशा।..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित। P57,   yoga meditation script "घट विच अजब तमाशा।..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित। Reviewed by सत्संग ध्यान on 1/01/2020 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

कृपया सत्संग ध्यान से संबंधित किसी विषय पर जानकारी या अन्य सहायता के लिए टिप्पणी करें।

Ads 5

Blogger द्वारा संचालित.