Ad1

Ad2

P29, Secret of guru darshan "सतगुरु दरस देन हित आए,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान

महर्षि मेंहीं पदावली / 29

      प्रभु प्रेमियों ! संतवाणी अर्थ सहित में आज हम लोग जानेंगे- संतमत सत्संग के महान प्रचारक सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के भारती (हिंदी) पुस्तक "महर्षि मेंहीं पदावली" जो हम संतमतानुयाइयों के लिए गुरु-गीता के समान अनमोल कृति है। इस कृति के 29वें, पद्य- "सतगुरु दरस देन हित आए,..." का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी के  बारे में। जिसे पूज्यपाद लालदास जी महाराज नेे किया है।
इस सद्गुरु भजन (कविता, पद्य, वाणी, छंद, भजन) "सतगुरु दरस देन हित आए,..." में बताया गया है कि- GURU DARSHAN BHAGWAN KA DARSHAN,Guru Darshan De Gaye Ho,गुरु दर्शन भगवान के दर्शन,गुरु दर्शन का रहस्य,सद्गुरु महाराज,Satguru Maharaj Ki Jai,श्री सद्गुरु स्वामी जी की बन्दना,sadguru bndana,सतगुरु महाराज का भजन,सतगुरु महाराज की जय हो,सतगुरु महाराज के गाना,सतगुरु देव की भजन,Guru Vandana,Sadguru Ki Mahima,Satguru Mahima NEW BHAJAN,सद्गुरु की महिमा in Hindi आदि।


इस पद्य के  पहले वाले पद्य को पढ़ने के लिए  


P29, Secret of guru darshan "सतगुरु दरस देन हित आए,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। सद्गुरु महर्षि मेंहीं और टीकाकार
सद्गुरु महर्षि मेंही और टीकाकार

Secret of guru darshan

सतगुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज जी  कहते हैं- "हमारे सतगुरु हमें दर्शन देने के लिए आ गए, इससे हमारा सौभाग्य जग गया।... गुरु दर्शन करने से पाप ताप नष्ट हो जातेे, इसका रहस्य क्या है?" इस विषय में पूरी जानकारी के लिए इस भजन का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी किया गया है। उसे पढ़ें-

P29, Secret of guru darshan "सतगुरु दरस देन हित आए,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। पदावली भजन 29, शब्दार्थ पदार्थ। महर्षि संतसेवी द्वारा।
पदावली भजन 29, शब्दार्थ पदार्थ। महर्षि संतसेवी द्वारा

P29, Secret of guru darshan "सतगुरु दरस देन हित आए,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। पदावली भजन 29, शब्दार्थ भावार्थ और टिप्पणी वर्णन।
पदावली भजन 29, शब्दार्थ भावार्थ और टिप्पणी वर्णन

इस पद्य के  बाद वाले पद्य को पढ़ने के लिए   यहां दबाएं।

प्रभु प्रेमियों !  "महर्षि मेंहीं पदावली शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी सहित" नामक पुस्तक  से इस भजन के शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी द्वारा आपने जाना किसद्गुरु की महिमा अनन्त, अनन्त दिखावणहार - Literature Hindi,सतगुरु जी की महिमा,सतगुरु महिमा भजन, इतनी जानकारी के बाद भी अगर आपके मन में किसी प्रकार का शंका या कोई प्रश्न है, तो हमें कमेंट करें। इस लेख के बारे में अपने इष्ट-मित्रों को भी बता दें, जिससे वे भी इससे लाभ उठा सकें। सत्संग ध्यान ब्लॉग का सदस्य बने। इससे आपको आने वाले  पोस्ट की सूचना नि:शुल्क मिलती रहेगी। इस पद्य का पाठ किया गया है उसे सुननेे के लिए निम्नांकित वीडियो देखें।


अगर आप 'महर्षि मेंहीं पदावली' पुस्तक के अन्य पद्यों के अर्थों के बारे में जानना चाहते हैं या इस पुस्तक के बारे में विशेष रूप से जानना चाहते हैं तो     यहां दबाएं। 
गुरु महाराज की सभी पुस्तकों एवं संतमत से प्रकाशित अन्य पुस्तकें एवं सत्संग ध्यान से संबंधित अन्य सामग्री के लिए हमारे सत्संग ध्यान ऑनलाइन स्टोर पर पधारने के लिए    यहां दबाएं

सत्संग ध्यान संतवाणी ब्लॉक की अन्य संतवाणीयों के अर्थ सहित सूची के लिए    यहां दवाएं

सत्संग ध्यान स्टोर पर पुस्तकों की सूची के लिए
 यहां दवाएं

P29, Secret of guru darshan "सतगुरु दरस देन हित आए,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान P29, Secret of guru darshan "सतगुरु दरस देन हित आए,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान Reviewed by सत्संग ध्यान on 12/16/2019 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

कृपया सत्संग ध्यान से संबंधित किसी विषय पर जानकारी या अन्य सहायता के लिए टिप्पणी करें।

Ads 5

Blogger द्वारा संचालित.