Ad1

Ad4

P26, what is meditation Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान

महर्षि मेंहीं पदावली / 26

      प्रभु प्रेमियों ! संतवाणी अर्थ सहित में आज हम लोग जानेंगे- संतमत सत्संग के महान प्रचारक सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज के भारती (हिंदी) पुस्तक "महर्षि मेंहीं पदावली" जो हम संतमतानुयाइयों के लिए गुरु-गीता के समान अनमोल कृति है। इस कृति के 26वां, पद्य- "बार-बार करुं वीनती,..." का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी के  बारे में। जिसे पूज्यपाद लालदास जी महाराज नेे किया है।
इस सद्गुरु भजन (कविता, पद्य, वाणी, छंद, भजन) "बार-बार करुं वीनती,..." में बताया गया है कि- ध्यान में तरक्की के लिए प्रार्थना, मेडिटेशन में खूब तरक्की,Mission Genius,ध्यान में तरक्की कैसे हो,ध्यान लाभ मंत्र,ध्यान में सफलता के उपाय,ध्यान बढाने के उपाय हिंदी में,सफलता के मंत्र,सफलता के मूल मंत्र,हर काम में सफलता पाने का मंत्र,सक्सेस मंत्र,सर्वत्र सफलता मंत्र,जीवन में सफलता पाने के तरीके,सफलता के विचार,पावरफुल सफलता का मंत्र,Powerful Success Mantra, आदि।

इस पद्य के  पहले वाले पद्य को पढ़ने के लिए  


P26, what is meditation  Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। सद्गुरु महर्षि मेंहीं और टीकाकार लालदास जी महाराज
सद्गुरु महर्षि मेंहीं और टीकाकार लालदास जी महाराज।

what is meditation  Prayer
सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज जी  कहते हैं- "हे स्वामी गुरुदेव! मैं बारंबार आपके सामने प्रार्थना करता हूं कि आप कृपापूर्ण दृष्टि से मेरी ओर देखिए, जिससे कि मेरा चित्त आपके चरणों के ध्यान में लग जाए।..." इस विषय में पूरी जानकारी के लिए इस भजन का शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी किया गया है। उसे पढ़ें-

P26, what is meditation  Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। पडावली भजन 26।
पदावली भजन 26,

P26, what is meditation  Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। पदावली भजन 26 और शब्दार्थ
पदावली भजन 26 और  शब्दार्थ

P26, what is meditation  Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। पदावली भजन 26 कठिन शब्दों के अर्थ
पदावली भजन 26 कठिन शब्दों के अर्थ

P26, what is meditation  Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। पदावली भजन 26 भावार्थ।
पदावली भजन 26 भावार्थ।

P26, what is meditation  Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान। पदावली भजन 26 टिप्पणी।
पदावली भजन 26 टिप्पणी।


इस पद्य के  बाद वाले पद्य को पढ़ने के लिए   यहां दबाएं।

प्रभु प्रेमियों !  "महर्षि मेंहीं पदावली शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी सहित" नामक पुस्तक  से इस भजन के शब्दार्थ, भावार्थ और टिप्पणी द्वारा आपने जाना कि The Types and Benefits of Meditation,Meditation & Yoga: How to Meditate, इतनी जानकारी के बाद भी अगर आपके मन में किसी प्रकार का शंका या कोई प्रश्न है, तो हमें कमेंट करें। इस लेख के बारे में अपने इष्ट-मित्रों को भी बता दें, जिससे वे भी इससे लाभ उठा सकें। सत्संग ध्यान ब्लॉग का सदस्य बने। इससे आपको आने वाले  पोस्ट की सूचना नि:शुल्क मिलती रहेगी। इस पद्य का पाठ किया गया है उसे सुननेे के लिए निम्नांकित वीडियो देखें।


अगर आप 'महर्षि मेंहीं पदावली' पुस्तक के अन्य पद्यों के अर्थों के बारे में जानना चाहते हैं या इस पुस्तक के बारे में विशेष रूप से जानना चाहते हैं तो     यहां दबाएं। 

गुरु महाराज की सभी पुस्तकों एवं संतमत से प्रकाशित अन्य पुस्तकें एवं सत्संग ध्यान से संबंधित अन्य सामग्री के लिए हमारे सत्संग ध्यान ऑनलाइन स्टोर पर पधारने के लिए    यहां दबाएं

सत्संग ध्यान संतवाणी ब्लॉक की अन्य संतवाणीयों के अर्थ सहित सूची के लिए    यहां दवाएं

सत्संग ध्यान स्टोर पर पुस्तकों की सूची के लिए
 यहां दवाएं

P26, what is meditation Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान P26, what is meditation  Prayer "बार-बार करुं वीनती,..." महर्षि मेंहीं पदावली अर्थ सहित/सत्संग ध्यान Reviewed by सत्संग ध्यान on दिसंबर 15, 2019 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

कृपया सत्संग ध्यान से संबंधित किसी विषय पर जानकारी या अन्य सहायता के लिए टिप्पणी करें।

Ad3

Blogger द्वारा संचालित.